Wednesday, February 15, 2006

नेता झुठ कितना बोलते है

नेताओं से भरी एक बस जा रही थी. अचानक बस रोड़ छोड़ कर नीचे खेत में एक
पेड़ से जा टकरायी. एक बुढ़ा किसान जिसका वह खेत था दौड़ता हुआ आया. सब कुछ
देख उसने एक गड्ढा खोदना शुरू किया और फ़िर उसमे नेताओं को दफ़ना दिया.

कुछ दिन बाद स्थानीय प्रशासन को बस के एक्सीडेंट के बारे में पता लगा,
उन्होने किसान से पुछा की सारे नेता कहाँ गये.

किसान ने बताया की उसने सभी को दफ़ना दिया है..
"क्या सभी मर गये थे???" आश्चर्यचकित हो पुछा गया

किसान ने बताया " नही! कुछ कह रहे थे की वो नही मरे, पर आप तो जानते ही
है की ये नेता झुठ कितना बोलते है..."

----------------------------------------------------------------------

नर्सरी क्लास में छोटे बच्चों से पुछा गया "भगवान कहाँ है?"
एक बच्चे ने जोर जोर से हाथ हिलाया "मुझे पता है!!"
टीचर ने कहाँ "अच्छा बताओं"
बच्चे ने बताया "हमारे बाथरूम में"

एक पल के लिये टीचर चुप! फ़िर संभलते हुए बोली "तुम्हे कैसे पता?"

बच्चा बोला "रोज सुबह जब पापा उठते है, बाथरूम का दरवाजा पिटते हुए कहते
है - हे भगवान ! तुम अब तक अंदर ही हो!"

----------------------------------------------------------------------

चायवाला : भोली सी सुरत, आँखों में मस्ती, दूर खड़ी शरमाये..."आये हाये"

लड़की: काली सी सुरत, हाथों में केतली , दूर खड़ा चिल्लाये, "चाये चाये"!!!



सुरज हुआ मद्धम , चांद जलने लगा, आसमां ये हाय, क्यु पिघलने लगा, मैं
ठहरा रहा ज़मीं चलने लगी, धड़का ये दिल साँस थमने लगी, क्या ये मेर पहला
पहला प्यार है??

अबे बेवकुफ़...ये प्यार नही.. भूकंप है..भाग ले!!!