Wednesday, February 15, 2006

मैं और मेरे रूममेट्स

मैं और मेरे रूममेट्स
अक्सर यह बातें करते हैं...
घर साफ़ होता तो कैसा होता
मैं किचन साफ़ करता,तुम बाथरूम धोते
मैं हॉल साफ़ करता, तुम बालकनी देखते

लोग इस बात पे हैरान होते
और उस बात पे हँसते....
मैं और मेरे रूममेट्स ,
अक्सर यह बातें करते हैं !!!

यह हरा भरा सींक है
या बर्तनों की जंग छिड़ी हुई है
यह कलरफ़ुल किचन है
या मसालों से होली खेली है

है फ़र्श की नयी डिज़ाइन
या दूध, बीयर से धुली हुई हैं

यह सेलफ़ोन है या ढक्कन,
स्लीपींग बैग या किसीका आँचल,
ये एयरफ़्रेशनर का नया फ़्लैवर है,
या कचरे के डब्बे से आती बदबू
यह पत्तियों की है सरसराहत
की हीटर फ़िर से खराब हुआ है
यह सोचता हैं रूममेट कब से गुम सुम -
के जब के उसको भी यह खबर है
के मच्छर नही है, कहीं नही है
मगर उसका दिल है कि कह रहा है
मच्छर यहीं है, यहीं कहीं है !

तोंद की ये हालत, मेरी भी है, उसकी भी,
दिल में एक तस्वीर इधर भी है, उधर भी !!!
करने को बहुत कुछ है मगर कब करें हम
कब तक यूं ही इस तरह रहें हम
दिल कहता है सेफ़वे से कोई वेक्युम क्लीनर ला दे
ये कारपेट जो जीने को जुझ रहा है, फ़िकवा दे
हम साफ़ रह सकते है, लोगों को बता दें,
हाँ हम रूममेट्स है - रूममेट्स है - रूममेट्स है
अब दिल मैं यही बात, इधर भी है उधर भी......
सब को बता दें.........

नेता झुठ कितना बोलते है

नेताओं से भरी एक बस जा रही थी. अचानक बस रोड़ छोड़ कर नीचे खेत में एक
पेड़ से जा टकरायी. एक बुढ़ा किसान जिसका वह खेत था दौड़ता हुआ आया. सब कुछ
देख उसने एक गड्ढा खोदना शुरू किया और फ़िर उसमे नेताओं को दफ़ना दिया.

कुछ दिन बाद स्थानीय प्रशासन को बस के एक्सीडेंट के बारे में पता लगा,
उन्होने किसान से पुछा की सारे नेता कहाँ गये.

किसान ने बताया की उसने सभी को दफ़ना दिया है..
"क्या सभी मर गये थे???" आश्चर्यचकित हो पुछा गया

किसान ने बताया " नही! कुछ कह रहे थे की वो नही मरे, पर आप तो जानते ही
है की ये नेता झुठ कितना बोलते है..."

----------------------------------------------------------------------

नर्सरी क्लास में छोटे बच्चों से पुछा गया "भगवान कहाँ है?"
एक बच्चे ने जोर जोर से हाथ हिलाया "मुझे पता है!!"
टीचर ने कहाँ "अच्छा बताओं"
बच्चे ने बताया "हमारे बाथरूम में"

एक पल के लिये टीचर चुप! फ़िर संभलते हुए बोली "तुम्हे कैसे पता?"

बच्चा बोला "रोज सुबह जब पापा उठते है, बाथरूम का दरवाजा पिटते हुए कहते
है - हे भगवान ! तुम अब तक अंदर ही हो!"

----------------------------------------------------------------------

चायवाला : भोली सी सुरत, आँखों में मस्ती, दूर खड़ी शरमाये..."आये हाये"

लड़की: काली सी सुरत, हाथों में केतली , दूर खड़ा चिल्लाये, "चाये चाये"!!!



सुरज हुआ मद्धम , चांद जलने लगा, आसमां ये हाय, क्यु पिघलने लगा, मैं
ठहरा रहा ज़मीं चलने लगी, धड़का ये दिल साँस थमने लगी, क्या ये मेर पहला
पहला प्यार है??

अबे बेवकुफ़...ये प्यार नही.. भूकंप है..भाग ले!!!

Friday, February 10, 2006

चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं...

एक एरिया में भाई रहता है, चमन भाई.. अब उसके एरिया में जो भी लफ़ड़ा होता है तो पुलिस से पहले चमन भाई की अदालत में जाता है.

एक बार चमन भाई के एरिया में रेप हो जाता है और जिस ने काम बजाया होता है उसको पकड़ के चमन भाई के पास लेके जाते है. चमन भाई पहले तो बहुत शान्ति से स्टाईल में उससे बात करते है वो कुछ इस तरह से है.

चमन: क्या रे तेरे को मालूम नहीं ये अपुन का एरिया है??

मुजरीम: हाँ मालूम है ना भाई.

चमन: फ़िर कैसे हिम्मत किया रेप की मेरे एरिया मे?

मुजरीम: अब क्या बोलु भाई किस्मत खराब थी.

चमन: चल मेरे को सब सच सच बता क्या और कैसे हुवा

मुजरीम: अभी क्या ना इधर नाके पे अपुन पान खाने के लिये आया

चमन: फ़िर..

मुर्जिम: अपुन खड़े होके पान खारेला था और उतने में सामने वाली बिल्डींग पे अपुन की नज़र गई.

चमन: आगे बोल

मुजरीम: उधर तीसरी माले पे एक चिकनी खड़ी हुए थी

चमन: फ़िर क्या हुवा

मुजरीम: अपुन को ऐसा लगा के उसने इशारा किया आने के लिये

चमन: फ़िर तुने क्या किया

मुजरीम: अपुन सोचा के कुछ काम होएंगा उसको. अपुन बिल्डींग के नीचे गया

चमन: फ़िर

मुजरीम: उसने इशारे से अपुन को उपर बोलाया.. अपुन सिड़ी चड़ते हुए सोच रहा था चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन: चल फ़टा फ़ट आगे बोल

मुजरीम: अपुन ने उसको जाके बोला क्या काम है? काईको इशारा किया अपुन को?

चमन: फ़िर

मुजरीम: फ़िर क्या भाई अपुन को उसने घर में अन्दर खींच लिया

चमन: फ़िर

मुजरीम: अपुन घर में तो चला गया लेकिन सोच रहा था के चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन: आगे बोल

मुजरीम: उसने अपुन का हाथ पकड़ लिया

चमन: अच्छा?

मुजरीम: सच्छी बोलता है भाई हाथ पकड़ते ही अपुन फ़िर सोचा चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन : फ़िर क्या हुवा

मुजरीम: फ़िर क्या था उसने बोला चिकने मेरी प्यास बुझा दे

चमन: फ़िर तु क्या बोला (जोश में आकर)

मुजरीम: अपुन क्या बोलता? उसने अप्ना दुपट्टा नीचे गिरा दिया

चमन: तो क्या हुवा..

मुजरीम: अपुन के दिमाग की ढाइ हो गई क्या बॉडी थी साली की... लेकिन भाई फ़िर भी अपुन सोचा चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन: फ़िर तुने क्या किया

मुजरीम: अपुन बोला एकाद किस करेगा और चला जायेगा. बोले तो बॉडी काम करेंगा लेकिन इन्जन नहीं खोलने का

चमन: तो फ़िर

मुजरीम: उसने अपुन को खीच लिया सच्ची बोला है भाई ऐसी कातिल जवानी अपुन अक्खी लाइफ़ में नहीं देखा

चमन: हाँ वो तो है तो आगे बोल (गर्म होते हुए)

मुजरीम: फ़िर क्या था अपुन ने किस किया, लेकिन इमान से बोलता है सोच रहा था चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन : आगे बोल

मुजरीम: फ़िर उसने अपनी कमीज़ उतार दी

चमन: फ़िर

मुजरीम : फ़िर सलवार. लेकिन अपुन के दिल में एक ही खयाल आ रहा था चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन: आगे आगे

मुजरीम: फ़िर बिलाउस और चड्डी साली ने सब उतार दी

चमन : सही में. फ़िर

मुजरीम: फ़िर मेरी पेन्ट खीच ली

चमन : अच्छा. फ़िर फ़िर

मुजरीम: मेरी अंडरवीयर में हाथ डाल दिया

चमन: ओह! फ़िर, फ़िर, फ़िर

मुजरीम: चड्डी उतार दी मेरी लेकिन अपुन फ़िर भी सोचा चमन भाई का एरिया है लफ़ड़ा नहीं करने का

चमन : (गुस्सा होते हुए) अरे चमन गया माँ चुदाने तु आगे बोल.

मुजरीम : यही सोच के तो मैने रेप कर डाला.

Wednesday, February 08, 2006

ट्रक का नंबर भी लिखा है

एक ट्रक दुसरे ट्रक को खीच रहा था.
देख कर सरदारजी हँसकर लोटपोट होके गिर पड़े और बोले:
एक रस्सी का टुकड़ा उठाने के लिये २-२ ट्रक


सन्ता और बन्ता मिस्र के म्युज़ीयम में ममी को देख रहे थे
सन्ता: बेचारा! पट्टीयाँ ही पट्टीयाँ लगी हैं...
कितनी चोटें लगी हैं इसको..
जरूर ट्रक एक्सीडेंट में मरा होगा...
बन्ता: हाँ, ट्रक का नंबर भी लिखा है . :- A.D.1460


सन्ता मे बन्ता से पुछा : तुम पोस्टपैड के बजाय प्रीपैड को महत्व क्यों देते हो?
बन्ता: प्रीपैड में बहुत फ़ायदा है, इसमे कॉल के बाद बिल बढने के बजाय कम होता है...

कभी Enter तो मारो यार

अभी अभी तो प्यार का PC किया है चालु
अपने दिल के Hard Disk पे और कितनी Files डालु

अपने चेहरे से रूसवाई की Error तो हटाओ
ऐ जानेमन अपने दिल का Password तो बताओ

वो तो हम है जो आप की चाहत दिल मॆं रखते है
वरना आप जैसे कितने Softwares तो बाज़ार में बिकते है

रोज़ रात आप मेरे सपने में आते हो
मेरे प्यार को Mouse बना के उंगलियों पे नचाते हो

तेरे प्यार का Email मेरे दिल को लुभाता है
पर बीच में तेरे बाप का Virus आ जाता है

और करवाओगे हमसे कितना इन्तजार
हमारे दिल की साईट पे कभी Enter तो मारो यार

अपने इन्सल्ट का बदला देखो कैसे लुंगा
जानेमन तेरे बाप को Ctrl+Alt+Delete कर दुंगा

आपके कई नखरे अपने दिल पे बैंग हो गये
दो PC जुड़ते जुड़ते Hang हो गये

आप जैसो के लिये दिल को Cut किया करते है
वरना बाकी केसेस में तो Copy Paste किया करते हैं

आपक हँसना आप क चलना आप की वो स्टाईल
आपकी अदाओं की हमने Save कर ली है File

जो सदीयों से होता आया है वो रीपीट कर दुंगा
तु ना मिली तो तुझे Ctrl+Alt+Delete कर दुंगा

लड़कीयां सुन्दर हैं और लोनली हैं
प्रोब्लम है कि बस वो Read Only हैं

शायद मेरे प्यार को टेस्ट करना भुल गये
दिल को ऐसा Cut किया की Paste करना भुल गये

वो समझते हैं दिल तोड़ दिया तो हम Dead हैं
वो नहीं जानते की इस दिल में और कितने थ्रेड हैं

रोज़ सुबह हम करते है इतने प्यार से उन्हे गुड मोर्निंग
वो हमे घूर कर देखते हैं जैसे 0 error but 5 warnings

Tuesday, February 07, 2006

मोहब्बत हो गयी है चैटिंग से...

दुनिया बदल गयी है चैटिंग से
होती है अब हैकिंग चैटिंग से
होती थी लड़कियाँ सुबह शाम हमारी गलीं में
निकलना हो गया उनका बन्द चैटिंग से
क्योंकि होती हैं अब तो सैटिंग चैटिंग से
दुनिया हो गयी है बेकार चैटिंग से

होती हैं खराब आखें चैटिंग से
पहले करते हम दोस्त बातें होटलों में
पीते थे चाय वगैरह होटलों में
खूब होती थी मस्ती होटलों में

खेलते थे मज़ा किया करते थे
अब तो होती है बात तो वो भी चैटिंग से
बेकार हो गया है टेलीफ़ोन चैटिंग से
हो जाती है अब वोईस चैट चैटिंग से
पता नहीं था क्या मतलब होता है ASL क
पता चल गये सारे मतलब चैटिंग से

हो रहे हैं बदनाम लोग चैटिंग से
करता नहीं कोई अंग्रेज बातें हमसे चैटिंग से
कह्ते हैं की आती है इंगलिश चैटिंग से
मैं कहता हुं होगये है इंगलिश खराब चैटिंग से
होती थी बड़ी धूम धाम से शादी
निकाह हो रहा है अब चैटिंग से
अब तो ऐसा लगता है कि जनाब
मोहब्बत हो गयी है चैटिंग से....!!!

पहली बार अकेली सोयी है !

मल्लिका शेरावत को एयरपोर्ट कस्टम काउंटर पर चेक करते हुए पुछा :
"माचिस की इस डिब्बी में क्या है ?"
मल्लिका शेरावत ने जवाब दिया :
"परेशान मत करों. इसमे मेरे कपड़े है और क्या !"


रिपोर्टर ने मल्लिका से पुछा :
"सुबह उठकर सबसे पहले आप क्या करती है ?"
मल्लिका ने जवाब दिया :
"सुबह उठकर सबसे पहले अपने घर चली जाती हुं"


मल्लिका शेरावत का देशभक्ति गीत :
"अब तुम्हारे हवाले बदन साथियों"


लड़्को के लिये जन्मदिन का बधाई संदेश :
ईश्वर करें हर दिन आपकी खुशियाँ पेट्रोल के भाव की तरह बढ़े
और आपके ग़म मल्लिका शेरावत के कपड़ों की तरह घटे"


मल्लिका शेरावत के मरने के बाद उसकी कब्र पर क्या लिखा होगा ?
"पहली बार अकेली सोयी है !"