Tuesday, February 07, 2006

पहली बार अकेली सोयी है !

मल्लिका शेरावत को एयरपोर्ट कस्टम काउंटर पर चेक करते हुए पुछा :
"माचिस की इस डिब्बी में क्या है ?"
मल्लिका शेरावत ने जवाब दिया :
"परेशान मत करों. इसमे मेरे कपड़े है और क्या !"


रिपोर्टर ने मल्लिका से पुछा :
"सुबह उठकर सबसे पहले आप क्या करती है ?"
मल्लिका ने जवाब दिया :
"सुबह उठकर सबसे पहले अपने घर चली जाती हुं"


मल्लिका शेरावत का देशभक्ति गीत :
"अब तुम्हारे हवाले बदन साथियों"


लड़्को के लिये जन्मदिन का बधाई संदेश :
ईश्वर करें हर दिन आपकी खुशियाँ पेट्रोल के भाव की तरह बढ़े
और आपके ग़म मल्लिका शेरावत के कपड़ों की तरह घटे"


मल्लिका शेरावत के मरने के बाद उसकी कब्र पर क्या लिखा होगा ?
"पहली बार अकेली सोयी है !"